Poetry

Chahat

चाहत (Hindi)

अपने क़िस्से कहानियाँ में तुम्हें अब सुनता नहीं, इसका मतलब ये नहीं के अब तुम्हें मैं चाहता नहीं । नहीं बताता क्या बीतती है रोज़, अपने एहसास अब नहीं जताता, हर छोटी बात पर रूठ जाया करता था कभी, लेकिन अब हर बात को दिल से नहीं लगाता। सारे गिले-शिकवे बाट लेता हूँ ख़ुद में …

चाहत (Hindi) Read More »

Salvation Poem

Salvation

Stuck within my skin Some sacred sins spin While I muse in my mellow blues I’m all loose letting my worries snooze The whiskey falls free on the rocks To open locks of my closed pandora box And the night witnesses my soul on fire as I smoke up my burning inner desire Only a shadow follows the …

Salvation Read More »

इश्क़ की ताबीर

इश्क़ की ताबीर (Hindi)

जस्थुजू वो नहीं जिसमें मंज़िल हो जज्बा वो नहीं जो पल भर का हो ख्वाब वो नहीं जिन्हें लिए तुम सोते हो ख्वाहिश वो नहीं जो आसानी से मिलती हो लम्हा वो खास नहीं जिसमें उल्फत ना हो फितूर वो नहीं जिस खातिर तुम फ़ना ना हो बदनसीब है वो जिनका इश्क़ समय के साथ …

इश्क़ की ताबीर (Hindi) Read More »

Poetry on Insomnia

Insomnia

Whilst light sleeps into the night I let go of my dreary day’s fight Floating free upon the waves of the mat I shush my mind picturing this and that No more untangling the messy knots The night’s free from my fussy thoughts If I’m unsure of the day being wrong or right I just …

Insomnia Read More »